DMCA क्या है और कैसे इस्तिमाल करे – What is DMCA in Hindi

DMCA kya hai – नमस्कार दोस्तों आज इस post में हम जाने वाले हैं कि DMCA क्या  है. और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है. साथ ही साथ हम यह भी जानेंगे कि DMCA के क्या फायदे हैं. और सभी Online Creaters के लिए यह क्यों जरूरी है. और भी बहुत सी बातें हैं जो मैं आज आपके साथ यहां पर शेयर करने वाला हूं आपको शायद ही उनके बारे में पता होगा तो एक बार आप उन सभी के headlines को देखने कि आज हम क्या क्या आपको बताने वाले हैं.

DMCA-Protection-kya-hai
DMCA-Protection-kya-hai

सबसे पहले बात की जाएगी अगर आप एक content wrighter है आप ऑनलाइन अपना कंटेंट लिखते हैं तो आपके कंटेंट के security बहुत ज्यादा जरूरी होती है. और जब आपने DMCA के बारे में सुना तो आप यह जाने के लिए उत्सुक हो गए कि DMCA क्या है और आप ने गूगल पर सर्च किया और हमारी वेबसाइट तक पहुंचे.

आपको पता है कि जब से इंटरनेट की शुरुआत हुई है ना जाने की कितने लोगों ने कई billion gigabytes  का Digital content को इंटरनेट पर अपलोड कर दिया है. और अभी भी कर रहे हैं जैसे कि म्यूजिक, मूवीस, गेम्स, और भी तरह के कंटेंट को. अब सबसे बड़ा सवाल आता है कि क्या इसमें कोई Copyright issue होती है या नहीं. तो इसका सीधा जवाब है कि अगर आप किसी का कुछ चोरी करके इंटरनेट पर डालते हैं तो आपको बिल्कुल copyright मिलेगा.

और ऐसे में इन को कैसे solve किया जा सकता है? मैं आपको यह बता दूंगी. अगर आप किसी content creater का डाटा चुराते हैं और अपनी वेबसाइट पर उसको कॉपी पेस्ट कर देते हैं तो ऐसे में अगर आपने जहां से डाटा चुराया है उस व्यक्ति के वेबसाइट पर DMCA ने सुरक्षा प्रदान कर रखी है या उसने सुरक्षा ले रखी है DMCA से तो DMCA द्वारा वह आपको claim कर सकता है. इसलिए आप किसी का भी कोई डाटा ऑनलाइन ना चुराए.

DMCA क्या है

DMCA की Full-Form होती है Digital millennium copyright act. (or DMCA) यह एक बहुत ही controversial law  होता है US government ka जिसे की सन 1998 में लाया गया था,  और इसको लाने वाले व्यक्ति president bill cinton थे.

  • DMCA का सबसे महत्वपूर्ण काम यह होता है कि वह एक copyright ओनर और दूसरा यूजर के बीच  बैलेंस बनाए रखने का, और यह किसी भी प्रकार के copyright infrigement को भी solve करता है जो डिजिटल वर्ल्ड  के सरफेस में उभरते हैं.
  •  DMCA डिजिटल मीडिया को नियंत्रित करती है और उनसे सौदा करती है. यह आपकी वेबसाइट से चोरी हो रहे कंटेंट को बचाता है और यदि कोई चोरी कर लेता है तो आपको पूरा हक देता है कि आप चोरी करने वाले व्यक्ति को रिपोर्ट कर सकते.
  • आज के समय में हम लोग ज्यादातर अपने वेबसाइट को प्रोटेक्ट करना चाहते हैं तो यह एक बहुत ही सुनहरा मौका होता है जहां से आप डी.एम.सी की मदद से अपनी वेबसाइट के लिए प्रोटेक्शन ले सकते हैं और साथ ही साथ चोरी किए गए कंटेंट को डिलीट भी करवा सकते हैं.
  • मैं आपको बता दूं कि अगर कोई भी आपकी वेबसाइट से आपकी बिना मंजूरी के कोई भी कंटेंट जैसे कि text, images, audio, video, को चुराता है तो हम DMCA कंप्लेंट द्वारा कॉपिड कंटेंट को टेक डाउन करवा सकते हैं या  सीधा हटवा भी सकते हैं.
  • Digital millennium protection और Tackedown के बारे में भी आपको नीचे की ओर जानकारी मिलने वाली है.

DMCA ki shuruat kab hui

DMCA की शुरुआत सन 1990 से शुरू हुई थी. और इसकी शुरुआत होने का सबसे बड़ा कारण यह था कि जब peer-to-peer file-sharing और दूसरी नहीं डिजिटल टेक्नोलॉजी ने सुविधाएं देना शुरू किया था वह भी widespread illegal access जोकि copyright मटेरियल होते थे.

इनके इस बर्ताव को देखकर इसके लिए  इंडस्ट्री आर्गेनाईजेशन जैसे कि recording industry association of ammerica (RIIA) ने एक हल निकाला जिसके लिए copyright होल्डर अपने राइट के लिए अपना हक profe कर सके, जिससे अपने साइड से या किसी भी जगह से copyright मटेरियल को हटा सके. जोकि बिना परमिशन के लोग पोस्ट कर देते हैं या यू बोले शेयर कर देते हैं.

इन्हीं तरह की दिक्कतों को भविष्य में रोकने के लिए DMCA की शुरुआत की गई. यह एक लीगल ग्लोब रेशन होता है उन सभी के लिए जो कि ऑनलाइन अपना काम करते हैं चाहे वह किसी भी तरह का कार्य क्यों ना हो. DMCA उनके कंटेंट को पूरी दुनिया में या बोल सकते हैं ऑनलाइन दुनिया में रक्षा प्रदान करता है.

DMCA Ki jarurat Creators ko kyu hoti hai

अगर आप एक ऑनलाइन कंटेंट राइटर है तो आपको DMCA की जरूरत होती है और मैं आपको इसी के बारे में बताऊंगा कि DMCA की जरूरत क्यों होती है.

  • अगर आपके लिखे हुए कंटेंट को कोई चोरी करता है आपके मंजूरी के बिना तो यह बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो जाती है. पर  अगर आपने DMCA का Approval ले रखा है तो आप चोरी करने वाले को DMCA takedown फाइल कर सकते हैं. और आपका चोरी हुआ कंटेंट वापस पा सकते हैं.
  • आप अपनी वेबसाइट के सभी कंटेंट के पेजेस को आसानी से मॉनिटर कर सकते हैं DMCA की official वेबसाइट पर जो कि उनके DMCA secure portal के जरिए होता है.
  • आप अपनी वेबसाइट के लिए बहुत ही आसानी से DMCA.com प्रोटेक्शन स्टेटस certificate प्राप्त कर सकते हैं जिससे कि अगर कोई उधर आकर कंटेंट चोरी करना चाहे तो DMCA का certificate देखकर डरे. यदि वह चोरी करता भी है तो वह आपको proper credit करें कि यह कंटेंट कहां से लिया गया है.
  • DMCA के अंदर अगर आप इसका प्रो प्लान लेते हैं तो आप इसके अंदर आसानी से DMCA से takedown notice कर सकते हैं बिना किसी दिक्कत के और अपने कंटेंट की कॉपी को स्कैन कर सकते हैं. स्कैन करने का फायदा यह होता है कि आपको यह पता चल जाता है कि आपके पीठ पीछे आपका डाटा कौन चुरा रहा है. 
  • DMCA के badge को ऐड करने के बाद आपको यह सभी पेज के लिए अप्रूव्ड होता है आपको हर पेज के लिए यह लगाने की जरूरत नहीं होती.

यहां का मुझे जो सबसे ज्यादा अच्छा feature लगता है कि आप यहां पर orignal कंटेंट की पहचान बहुत ही आसानी से कर सकते हैं. इसमें सबसे अच्छी बात यह भी है कि आप घर बैठे हैं. आपके द्वारा  लिखे गए कंटेंट या फिर किसी और तरह के कार्य के लिए लीगल एक्शन ले सकते हैं और अगर आपकी कोई बड़ी इंडस्ट्रियल कंपनी है तो उसके लिए अपने वकील के साथ code में उस व्यक्ति को हरा भी सकते हैं.

DMCA ka istemal kaise kare

अगर आप DMCA का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान है. इसके लिए आपको करना क्या होगा आप dmca.com की वेबसाइट पर जाकर अपना एक अकाउंट बना सकते हैं. और जैसे आप अपने अकाउंट बना लेते हैं वहां से आपको एक DMCA badge मिलेगा जिसका इस्तेमाल अपने वेबसाइट पर कर सकते हैं.

जब भी आप अपना अकाउंट बनाएंगे आपके सामने दो तरह के ऑप्शन दिखाई देंगे जिनमें से अगर आप Free plain वाले का यूज़ करना चाहते हैं तो free plain का इस्तेमाल कर सकते हैं और यदि आप paid plain का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो उसका भी कर सकते हैं.

आपको बता दो कि फ्री प्लेन में आप लोगों को एक DMCA takedown की सुविधा प्राप्त होती है और वही पर अगर आप paid plain लेते हैं तो आप जितने चाहे उतने takedown करवा सकते हैं. paid plain प्लान लेना चाहते हैं तो आपको अपनी जेब को देखना ही होगा और अपने हिसाब से यहां का प्लान लेना पड़ेगा.

अगर आपने मन बना ही लिया है कि आपको यहां से प्लेन लेना है तो आपके लिए अच्छा ऑफर हमारे पास पड़ा हुआ है आप इस कूपन कोड ejkxb87 का इस्तेमाल कर सकते हैं  DMCA का प्लान खरीदते समय और आपको इस code की मदद से पूरे 41% discount मिल जाएगा. जो कि मुझे लगता है कि फर्स्ट टाइम लेने वाले के लिए बहुत ही बढ़िया ऑफर होता है. आप इस कोड का इस्तेमाल एक ही अकाउंट पर एक ही बार कर सकते हैं.

DMCA Protection badge kya hoga hai-

DMCA Logo / Badge क्‍या होता है?- हमने कई बार बात की है कि DMCA से badge की DMCA से Protection badge होता क्या है यह एक तरह का icon होता है. जिसका इस्तेमाल आप अपनी वेबसाइट के अंदर कर सकते हैं दूसरों को warn करने के लिए जिससे वह आपका कंटेंट चोरी करने से पहले 10 बार सोच सकें.

यह एक तरह का रिमाइंडर भी होता है जो यह बताता रहता है कि आपकी वेबसाइट DMCA के protection अंदर है. वहीं अगर आप एक wordpress साइट पर अपनी वेबसाइट को चलाते हैं तो इसके लिए आपको एक दिन मिल जाता है. जो कि आसान बना देता है आपके protection badge का इस्तेमाल करने के लिए आपकी वेबसाइट में.

आपके मन में एक सवाल जरूर आया होगा कि अगर चोरी करने वाले के पास भी DMCA से Protection है तो ऐसे में क्या करना चाहिए. तो इसमें घबराने की कोई बात नहीं होती है आप उसको भी takedown notice भेज सकते हैं. इससे आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी. क्योंकि बहुत से कंटेंट चोर DMCA प्रोटेक्शन badge का इस्तेमाल करते हैं.

Digital millennium  copyright act अगर आप अपने किसी वेबसाइट के लिए लेते हैं तो आप केवल उसी ही वेबसाइट में इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. क्योंकि यह एक वेबसाइट प्रोटेक्शन certificate होता है जो कि आपके साइड नाम के सात बनता है. अगर आप पर कई और वेबसाइट है तो आपको उसके लिए अलग से protection badge लेना पड़ता है.

DMCA.COM मैं आपको एक ऐसा पोर्टल मिल जाता है जिसका इस्तेमाल आप अपनी वेबसाइट के पेजों को मॉनिटर करने के लिए कर सकते हैं. इस प्लेन की सबसे अच्छी बात यह होती है कि आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आपके कंटेंट को कौन चोरी कर रहा है.

DMCA Protection badge ka istemal site mai kyu hota hai?

DMCA से प्रोडक्शन के badge हमें अपनी वेबसाइट के अंदर add क्यों करना चाहिए इसके दो मुख्य कारण होते हैं.

  1. इसका इस्तेमाल एक कंटेंट ओनरशिप स्टेटमेंट की तरह किया जाता है जिससे आप इसके लिंक से वेबसाइट तक पहुंच सके.
  2. यह आपकी वेबसाइट के सभी पेजों में certificate की तरह इस्तेमाल होता है. और इस certificate की भी तीन प्रकार होते हैं.
  •  सबसे पहला होता है वेरीफाइड.
  •  दूसरे नंबर पर जो आता है वह अनवेरीफाइड.
  •  तीसरे नंबर पर जो आता है  अनऑथराइज्ड

यह 3 types होते हैं यह बताते हैं कि वेबसाइट के owner DMCA.com protection ke किस सर्विस का चुनाव किया है.

Read Also- Website per traffic Kaise badhaen

DMCA Badge Kaise add kare apne website mai

सबसे बड़ी बात कि DMCA protection badge को अपनी वेबसाइट में कैसे जोड़ा जाए. यह आप लोग जानना चाहते होंगे तो यह मैं आपको बताने वाला हूं.

Step-1

इसके लिए सबसे पहले आप DMCA की वेबसाइट पर जाएं और जो code मैंने आपको ऊपर बताया था discount के लिए अगर आप paid plain ले रहे हैं तो use कर सकते हैं. क्योंकि प्रो प्लेन में आपको डाटा सिक्योरिटी के best features मिलते हैं. और साथ में बहुत सी अन्य सुविधाएं भी. और मैंने आपको पहले बताया है कि 41% आप को डिस्काउंट मिल सकता है.

Step-2

जब आप DMCA की वेबसाइट पर पहुंचेंगे तो आपके सामने DMCA से SINGUP पेज ओपन होगा. इसके अंदर आपको अपने रजिस्ट्रेशन करने के लिए इन चीजों को डालने की आवश्यकता होती है.

  • आपका नाम
  • फिर आपकी कंपनी का नाम लिखें या फिर आप अपने वेबसाइट का भी नाम लिख सकते हैं.
  • उसके बाद  अपना एक username बनाएं.
  • फिर आपको अपनी ईमेल एड्रेस डालने की जरूरत होती है.
  • यह सब आप सबमिट बटन पर क्लिक कर सकते हैं.

अब आप अपने email Address में जाइए और आपके पास एक ईमेल आई होगी DMCA की ओर से अकाउंट वेरीफिकेशन के लिए तो आप वहां पर दिए हुए लिंक पर क्लिक करके अपना अकाउंट वेरीफाई कर लीजिए.

Read Also- अपने डोमेन नाम के लिए ईमेल अकाउंट कैसे बनाएं

step- 3

जैसे आप अपना अकाउंट बनाएंगे और लॉगिन हो जाएंगे तो आपके सामने बहुत सारे DMCA badge दिए गए होंगे. आप अपने पसंदीदा अनुसार अपना badge का चुनाव कर सकते हैं. जब आप  चुनाव कर लेते हैं उनको अपने ब्लॉग या वेबसाइट में जाकर ऐड करना होता है.

  • किसी भी बात को चुन सकते हैं DMCA एक है.
  • दिए हुए badge के code को कॉपी कर लीजिए.

Step-4

अब आप अपनी वेबसाइट के footer में कॉपी किए हुए code को जाकर पेस्ट कर दीजिए.

यहां पर मैं कुछ चीजें आपको और बताना चाहता हूं कि अगर आप ka वेबसाइट ब्लॉगर के ऊपर बना है तो आप  ब्लॉगर में HTML Widget मैं code को add कर सकते हैं. और यदि आप वर्डप्रेस use करते हैं तो आप DMCA ke Plugin का इस्तेमाल कर सकते हैं.

और यदि आपको कोडिंग के बारे में पता है तो आप अपने ब्लॉगर या वर्डप्रेस के हैडर और फुटर स्क्रिप्ट वाले ऑप्शन के अंदर भी डायरेक्टर DMCA badge के code को पेस्ट कर सकते हैं.

Step-5

जैसे ही आप DMCA badge को अपने वेबसाइट ब्लॉक में ऐड कर देते हैं तो आप अपनी वेबसाइट में जाकर DMCA के आइकन पर क्लिक करके यह वेरीफाई कर सकते हैं कि डीएम से ने आपकी वेबसाइट को प्रोटेक्ट किया है या नहीं.

जैसे आप DMCA के बटन पर क्लिक करते हैं आप एक नए पेज में ओपन हो जाएंगे और आपको DMCA द्वारा दिया गया certificate दिखाई देगा. कि आपके डीएम से प्रोडक्शन एक्टिवेट हो गई है और आपकी यह वेबसाइट ईयर सेवर प्रोडक्ट है. इससे आप सीहोर हो जाएंगे कि आप की वेबसाइट पर DMCA सही तरह से कार्य कर रहा है.

DMCA के Approval में कभी-कभी थोड़ा टाइम ज्यादा लग सकता है आपकी वेबसाइट के पेजेस पर प्रोटेक्शन ऑन करने में. तो आपको ध्यान देना होगा कि आप अपने वेबसाइट कडीएफ से प्रोटेक्शन कम से कम 2 से 3 घंटे बाद ही चेक करें. जब तक आपका डीएम से certificate एक्टिवेट हो जाएगा.

और एक महत्वपूर्ण बात यह भी एक ही अगर आपने free plain से प्रोडक्शन लिया है तो certificate में आपको कम से कम 30 दिन का DMCA प्रोटेक्शन पेंडिंग दिखाई देगा. इसलिए इससे आपको घबराने की जरूरत नहीं है

DCMA Notice kaise likha jata hai

यदि आपको पता चल गया है कि आपका कंटेंट कोई चोरी कर रहा है तो आप एक DMCA notice सेंड करना चाहते हैं तो यह कैसे करें. तो एक DMCA notice भेजने से पहले आपको कुछ चीजों का ध्यान रखना होता है. मैं उनके बारे में आपको बता देता हूं.

  • आपके सिग्नेचर इलेक्ट्रॉनिक्स फिजिकल होना चाहिए.
  • आपका जो कंटेंट चोरी हुआ है जिस पेड़ से हुआ है उसकी डिटेल आपके orignal यूआरएल के साथ होना चाहिए.
  • और साथ ही चोरी करने वाले की वेबसाइट के पोस्ट का URL
  • आपके कंटेंट की इंफॉर्मेशन.
  • और वही एक अच्छा सा कारण भी होना चाहिए आपके पास जो आप लिख कर भेज सकें कि आपके वेबसाइट का कौन सा कंटेंट चोरी किया गया है. सामने वाले की वेबसाइट में.

DMCA Takedown Kya hai

जब भी किसी भी वेबसाइट का कंटेंट DMCA द्वारा रिमूव कर दिया जाता है. उस समय जब DMCA को orignal कंटेंट हॉनर के द्वारा पूरे पूर्व के साथ रिक्वेस्ट प्राप्त होती हैं. और डीएम से जब यह वेरीफाई कर लेता है कि यह कंटेंट वहां से चुराया गया है. तो इसमें आप कुछ भी नहीं कर सकते हैं अगर आपने कंटेंट चुराया है और आप पकड़े जाते हैं. यह कंडीशन सभी वेबसाइट के लिए एक समान होती है चाहे वह कितना भी बड़ा वेबसाइट ओनर क्यों ना हो या वेबसाइट ही क्यों ना हो.

DMCA kaise kisi website ko affect karta hai

कुछ ऐसे वेबसाइट के मालिक होते हैं जोकि copyright कंटेंट का इस्तेमाल करते हैं और उन्हें किसी भी तरह का दंड नहीं मिला हुआ होता है. और मैं सुरक्षित होते हैं DMCA के certificate के द्वारा.

और यदि इस प्रोटेक्शन के होते हुए भी आप किसी का कंटेंट चुराकर अपनी वेबसाइट में डालते हैं तो इसके लिए आपको DMCA एक कड़ी सजा प्रदान करता है. और साथ ही आपके छुड़ाए गए कंटेंट को रिमूव कर देता है. जब भी उसका असली मालिक क्लेम करेगा.

यदि आपको notice मिल गया है DMCA की तरफ से और आप तभी भी उस कंटेंट को नहीं हटाते हैं तो आपके खिलाफ क्रिमिनल या सिविल पेनल्टी भी हो सकती है.

इसलिए बेहतर है कि आप के पास DMCA से का कोई notice आता है तो आपको तुरंत अपने ब्लॉग या वेबसाइट से उन कंटेंट को रिमूव कर देना चाहिए. इससे आपकी वेबसाइट पर आने वाली दिक्कत कुछ प्रतिशत कम हो सकती है.

Kya kare jub apko ek DMCA notice milta hai

अगर आपके पास एक DMCA notice आता है तो इससे घबराने की कोई ज्यादा जरूरत नहीं है. DMCA notice तभी आपको मिलेगा जब आप किसी और की वेबसाइट के कंटेंट को अपनी वेबसाइट के अंदर कॉपी पेस्ट करके शेयर करते हैं. ऐसे में आपको DMCA takedown नोटिफिकेशन 100% आ सकता है.

जब आपको यह notice मिले तो आप शांति से यह सोचना कि आपने यह काम जानबूझकर किया है या अनजाने में आपके द्वारा हुआ है. आपको लगता है कि आपकी गलती है तब आपको तुरंत ही उस कंटेंट को डिलीट कर देना चाहिए.

कभी-कभी ऐसा होता है कि आप को जिसने copyright notice भेजा है वह कंटेंट उसका भी ना हो और उसने कहीं और से भी चुराया हो. तभी भी आपको takedown notice आ सकता है. पर अगर आपने कहीं से भी कोई कंटेंट नहीं चुराया है और कुछ चीजें दूसरे की वेबसाइट से मेल खाती है ऐसे में क्या करना चाहिए.

अगर आपके orignal कंटेंट पर भी takedown notice आ जाता है तो आप notice भेजने वाले व्यक्ति से ईमेल के द्वारा बात कर सकते हैं. क्योंकि जभी भी takedown notice आता है तो उसमें क्लेम करने वाले की भी जानकारी उपलब्ध होती है. और आप उनसे संपर्क करके बात कर सकते हैं और अपनी वेबसाइट से takedown notice को रिमूव भी करवा सकते हैं.

 पर अगर आपकी गलती पूरी है तो आपको इसे सीरियसली लेना चाहिए और कंटेंट को notice आते ही रिमूव कर देना चाहिए. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं समय लेते हैं तो आपकी वेबसाइट को भी बहुत ज्यादा नुकसान होता है और आप की रैंकिंग भी बहुत डाउन होती है.

DMCA Certificate कब मिलता है?

जब आप अपनी वेबसाइट पर DMCA का certificate पाना चाहते हैं तो आपको DMCA की वेबसाइट पर जाकर DMCA का बैट हासिल करना होता है. और जैसा आप वहां से डीएम से badge मिल जाता है आप अपनी वेबसाइट पर ऐड कर सकते हैं. और कुछ समय बाद आपको डीएम से द्वारा एक वेरीफाइड certificate मिल जाता है.

जो certificate आपको मिलता है वह डीएम से certificate चलाता है. अगर आपको यह certificate मिलता है तो इस certificate के अंदर आपकी वेबसाइट का सब कुछ जैसे के पेज, टाइटल, URL, इन सभी की जानकारी पूरी तरह से certificate में उपलब्ध होती है.

 इस certificate के द्वारा किसी भी orignal कंटेंट को आसानी से पहचाना जा सकता है. जो कि आप लाइव द्वारा पता कर सकते हैं कि आपका कंटेंट कहां-कहां पर चोरी करके स्मॉल हो रहा है.

यदि आपने किसी को डीएम से धारण notice भेजा है और वह फिर भी किसी तरह का  एक्शन नहीं लेता है तो उसके लिए कानूनी कार्रवाई करने का रास्ता आपके लिए खुल जाता है.

DMCA hindi mai

मैं उम्मीद करता हूं हमारे द्वारा दी गई DMCA क्या है की पूरी जानकारी आप लोगों को पसंद आई होगी. यहां पर मैंने आपको DMCA takedown notice के विषय में भी पूरी जानकारी प्रदान कर दी है. यदि आपको लगता है कि इसके अंदर कुछ बातें रह गई हैं तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं. 

यदि आप लोगों को हमारे द्वारा यह पोस्ट DMCA क्या है हिंदी में पसंद आया है तो मैं उम्मीद करुंगा कि आप इसको अपने सोशल नेटवर्क जैसे कि फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर या किसी अन्य जगह पर जरुर शेयर करेंगे जिससे और भी लोगों को इसके बारे में जानकारी मिल सके.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.